Powerful motivational speech - If you also have stubborn passion, you will do it. lono me - Motivational quotes for success in life

Breaking

Comments system

Sunday, 23 February 2020

Powerful motivational speech - If you also have stubborn passion, you will do it. lono me

Powerful motivational speech - If you also have stubborn passion, you will do it.

Powerful motivational speech - If you also have stubborn passion, you will do it.
lonome Motivational



Powerful motivation

एक आदमी जिसने 2500 किताबें 6 पेंट 4 शर्ट 3 शूट्स एक पदम् श्री एक पदम् भूषण एक भारत रत्न 16 डॉक्टरेट हासिल करने के बाद भी जब और बड़ा करने की भुख मिटी नहीं तो उसी महान हस्ती ने देश के सबसे पहले स्पेस लॉन्च व्हीकल परमाणु परीक्षण से लेकर 5000 km की दूरी तय करने वाली अग्नि मिसाइल खड़ी कर डाली,

ऐसा तो वही लोग कर सकते हैं जिन्हें कम उम्र में अपनी जिम्मेदारियों का एहसास हो जाए वरना आम इंसान को तो थोड़ा सा मिल क्या जाता है वो उसी में उछलने लगता है, मात्र 10 साल की उम्र में अखबार बेचने के साथ साथ उसी अखबार पढ़ने वाले इनको जब 8 लोगों की पायलट की भर्ती में नवां स्थान देकर रिजेक्ट किया. तब इन्होंने पता है क्या किया जिद बनाई दुगनी मेहनत की और उसी मेहनत के चलते जिन्हें पायलट की जॉब से निकाला वही आदमी आज india के सबसे फेमस साइंटिस्ट में से एक है जिसे पूरी दुनिया "ए पी जे अब्दुल कलाम "के नाम से जानती है ,

बेशक कलाम सर आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनकी ये कहानी इंसानी नस्ल के लिए सदियों तक प्रेरणा देती रहेगी , अरे बारिश से बचने के लिए तो सारी चिड़िया बचने की जगह ढूंढती है लेकिन बाज पानी से बचने के लिए बादलों से ऊपर उड़ान भरता है ,

ये उसके सपनों की सबसे बड़ी उड़ान ही तो थी जिसके एक फैसले ने उसे पूरे विश्व की सबसे शक्तिशाली महिला ही नहीं बल्कि 29 मिलियन डॉलर के साथ पेप्सी कम्पनी का CEO भी बना दिया और सबसे बड़े गर्व की बात ये एक भारतीय महिला है घर वालो के लाख मना करने के बावजूद विदेश जाकर जॉब करने के फैसले ने आज उसे 8 करोड़ का एक " एड " बनाने वाली पेप्सी कम्पनी का मालिक बन दिया,
तुम्हें पता है हमने न जाने अब तक ऐसे कितने बड़े फैसलो को मार डाला है. जो अब तक हमें बहुत बड़ा बना सकते थे, अरे मेहनत तो मजदूर भी करता है लेकिन सक्सेस हमारी शारारिक ताकत ही नहीं बल्कि बड़े फैसले लेने की छमता को भी देखती है,

वरना इसी पेप्सी कम्पनी की CEO जिसके पास शूट खरीदने के पैसे ना होने के कारण साड़ी पहनकर ऑफिस जाने का फैसला ना लेकर अगर पैसों का इंतजार करती रहती तो वह अपनी कम्पनी से काफी आगे "कोका कोला" कम्पनी को कैसे पीछे कर पाती , इंद्रा नूई के नाम से पूरे वर्ल्ड की नम्बर वन सबसे पावरफुल महिला रह चुकी इसी महिला ने अपने पॉजिटिव नजरिए से साड़ी को अपना इंडियन कल्चर बता कर हर इंडियन को प्राउड फील भी करवाया है,

ये उसने अपने इंडिया को प्राउड फील नहीं कराया तो उसने क्या किया जिसने बर्सिलोना में ऑर्गनाइजड मोबाइल वर्ल्ड कॉंग्रेस का अब तक का सबसे बड़ा एग्जीबिशन जहाँ 94 हजार लोगों के आगे केवल अपनी स्पीच ही नहीं रखी बल्कि अपनी स्पीच को उन 94 हजार लोगों के दिमाग में घुसेड़ डाला,

जिसके चलते ब्रेड चैनल की मैगजीन ने इस आदमी को the मोस्ट पावरफुल मेन इन the वर्ल्ड इन मोबाइल का दर्जा दिया था, अगर इस आदमी की जगह हम होते तो इन 94 हजार लोगों के आगे इफैक्टिव स्पीच देना तो दूर की बात हम जल्दी से जल्दी काम को खत्म करने की सोचते, लेकिन इस आदमी ने इसे एक अपॉर्च्युनिटी समझी और इसी अपॉर्च्युनिटी ने इसे 220 मिलियन डॉलर की पर ईयर की सैलरी वाली जॉब दी और ये वही आदमी है जिसे उसके स्कूल या कॉलेज का प्रोफेसर ठीक से जनता भी नहीं था, लेकिन पता है शांत लोगों का सबसे ज्यादा खुराफाती दिमाग होता है,

अगर तुममें भी जिद है जुनून है तो कर जाओगे.

ये आदमी कोई और नहीं बल्कि वर्ल्ड में सबसे फेमस Google का CEO सुन्दर पिचाई है, और अगर बात करें इनकी रोमांटिक लाइफ की तो एक बार फिर से अपनी लॉयल्टी को सही प्रूफ करते हुए इसी सुंदर पिचाई ने अपनी कॉलेज गर्लफ्रैंड से शादी कर ली , अरे अमीर पार्टनर मत ढूंढो बल्कि साथ अमीर बनो, सुंदर पिचाई को जब सीईओ बनाया गया तब इस आदमी ने Google को रातो रात बर्बाद होने से बचाने के साथ साथ ठीक छह महीने पहले अपनी सूझबूझ का इस्तेमाल करके विंडो कम्पनी का अपना सर्च इंजन मार्केट में आने की संभावना जताई जो बिल्कुल सही साबित भी हुई. लेकिन तब तक पिचाई ने Google का अपना वेब ब्राउज़र बनाकर कम्पनी को डूबने से बचा लिया, और आज ये वेब ब्रॉउजर Google क्रोम के नाम से जाना जाता है ग्रेट सुंदर पिचाई ,


चाणक्य हमेशा कहते थे इससे पहले समस्या तुम्हें समाप्त करे समस्या को ही समाप्त कर दो ,
शायद यही कारण था कि अहमदाबाद से 100 रुपये लेकर निकलने वाला आदमी जिसने कॉलेज की पढ़ाई बीच में छोड़ने के बाद भी अपनी जिद को और बड़ा करके भारत का सबसे बड़ा पोर्ट ऑपरेटर कॉलमाईन ऑइल इम्पोर्ट का बिजनेस खड़ा कर डाला , 

Stubbornness

100 मेट्रिक इम्पोर्ट करने वाले इसी आदमी के अंदर एक पागलपन था और इसी पागलपन की बदौलत वो 100 से 4 हजार मीट्रिक टन का इम्पोर्ट करने लगा,
पता है इस आदमी की सबसे बड़ी खासियत क्या थी इसने कभी लोगों की बातों पर ध्यान ही नहीं दिया ,

इसलिए इंडिया में बिजनेस बढ़ा करने के बाद जब ऑस्ट्रेलिया में अपना कोलमाईन का अधिकरण किया तब इसने पूरे ऑस्ट्रेलिया को हिलाकर रख दिया,
ऑस्ट्रेलिया के लोगों के कड़े विरोध के बावजूद भी इसी जिद्दी पागल आदमी ने ऑस्ट्रेलिया में ही ऑस्ट्रेलिया में के लोगो सामने ही अबो्र्ट पॉइंट को खरीद डाला, इतना ही नहीं जब भूख और बड़ी तब अनिल अंबानी से रिलायंस का टॉवर भी खरीद लिया,


अरे बड़ा बनने के लिए उम्र तो बस एक नम्बर है, ये में नहीं बल्कि भारत का दूसरा सबसे अमीर आदमी अडानी का कहना है जिद्दी और शांत रहने वाले इसी अडानी की सबसे मजेदार बात जब 26/11 को हुए आतंकी हमले के समय सबसे लास्ट में निकलने वाला यही आदमी अडानी ग्रुप का मालिक था, अपने शांत स्वभाव के चलते इसने अपनी समझदारी केवल अपने बिजनेस में नहीं बल्कि हर मुसीबतों में दिखाई ये होता है विनर एटीट्यूट, जो रहते शांत हैं मगर अंदर आवाज बहुत होती है जिद होती है पागलपन होता है ।


आर्टिकल के आखिरी में बस यही कहूँगा तुम क्या हो कैसे हो कहाँ हो वो सब अपनी जगह, लेकिन अगर जिंदगी में कुछ बड़ा करना है तो सबसे पहले अपने आप को पहचानो क्योंकि जब जब जिसने अपने आप को पहचाना है आज पूरा संसार उसका दीवाना है, 

Lono me 



No comments:

Post a Comment