Book - rich dad poor dad motivational quotes Preface - part 4 - Motivational quotes for success in life

Breaking

Comments system

Friday, 28 February 2020

Book - rich dad poor dad motivational quotes Preface - part 4

Book - rich dad poor dad  Preface - part 4

Book - rich dad poor dad  Preface - part 4 lono.me
Motivational - lono me

प्रस्तावना भाग - 4


" 35 साल पहले पैदा हुए यह खुशहाल दंपति अब अपनी नौकरी के बाकी दिन " चूहा दौड़ "  में फंसकर बिताते हैं । वे अपनी कंपनी के मालिकों के लिए काम करते हैं , सरकार को टैक्स चुकाने के लिए काम करते हैं , और बैंक में अपनी गिरवी संपत्ति तथा क्रेडिट कार्ड के क़र्ज़ को चुकाने के लिए काम करते हैं । " फिर वे अपने बच्चों को यह सलाह देते हैं कि उन्हें मन लगाकर पढना चाहिए , अच्छे नंबर लाने चाहिए और किसी सुरक्षित नौकरी की तलाश करनी चाहिए । वे पैसे के बारे में कुछ भी नहीं सीखते और इसीलिए वे जिंदगी भर कड़ी मेहनत करते रहते हैं । यह प्रक्रिया पीढ़ी दर पीढ़ी चलती रहती है । इसे ' चूहा दौड़ ' कहते हैं । " "  चूहा दौड "" निकलने का एक ही तरीका है और वह यह कि आप अकाउंटस और इन्वेस्टमेंट दोनों क्षेत्रों में निपुण हो जाएँ । दिक्कत यह है कि इन दोनों ही विषयों को बोरिंग और कठिन माना जाता है । मैं खुद एक सी . पी . ए . हूँ ।



और मैने बिग 8 अकाउंटिंग फर्म के लिए काम किया है । मुझे यह देखकर ताला ने इन दोनों बोरिंग और कठिन ताज्जुब हुआकि इन दोनों बोरिंग और कठिन विषयों को सीखना कितना रोचक सरल , और रोमांचक बना दिया था । सीखने की प्रक्रिया इतनी अच्छी तरह छुपा ली गई थी कि जब हम " चूहा दौड़ " से बाहर निकलने के लिए जी जान लगा रहे थे तो हमें यह ध्यान ही नहीं रहा कि हम कुछ सीख रहे थे । शुरू में तो हम एक नए शैक्षणिक खेल का परीक्षण कर रहे थे , परंतु जल्द ही इस खेल में मुझे और मेरी बेटी को मज़ा आने लगा । खेल के दौरान हम दोनों ऐसे विषयों पर बात कर रहे थे जिनके बारे में हमने पहले कभी बातें नहीं की थीं । एक लेखापाल होने के कारण इन्कम स्टेटमेंट और बैलेंस शीट से जडा खेल खेलने में मुझे कोई परेशानी नहीं हुई । मैंने खेल के नियम और इसकी बारीकियाँ समझाने में अपनी बेटी और दूसरे लोगों की मदद भी की ।

Best motivational book in hindi

उस रोज में ' चूहा दौड़ ' से सबसे पहले बाहर निकली और केवल में ही बाहर निकल पाई । बाहर निकलने में मुझे 50 मिनट का समय लगा , हालाँकि खेल लगभग तीन घंटे तक चला । मेरी टेबल पर एक बैंकर बैठा था । इसके अलावा एक व्यवसायी था , और एक कंप्यूटर प्रोग्रामर भी था । मुझे यह देखकर बहुत हेरत हुई कि इन लोगों को अकाउंटिंग या इन्वेस्टमेंट के बारे में कितनी कम जानकारी है , जबकि ये विषय उनकी जिंदगी में कितनी ज्यादा एहमियत रखते हैं । मेरे मन में यह सवाल भी उठ रहा था कि वे असल जिंदगी में अपने पैसे - धेले के कारोबार को कैसे संभालते होंगे । मैं यह समझ सकती थी कि मेरी 19 साल की बेटी क्यों नहीं समझ सकती ,पर ये लोग तो उससे दुगनी उम्र के थे और उन्हें ये बातें समझ में आनी चाहिए थीं । ' चहा दौड ' से बाहर निकलने के बाद में दो घंटे तक अपनी बेटी और इन शिक्षित , अमीर बयस्कों को पासा फेंकते और अपना बाज़ार फेलाते देखती रही । हालाँकि मैं खुश थी कि वे लोग कुछ नया सीख रहे थे , लेकिन में इस बात से बहुत परेशान और विचलित भी थी कि वयस्क लोग सामान्य अकाउंटिंग और इन्वेस्टमेंट के मूलभूत बिंदुओं के बारे में कितना कम जानते थे ।

Free book online
उन्हें अपने इन्कम स्टेटमेंट और अपनी बैलेंस शीट के आपसी संबंध को समझने में ही बहुत समय लगा । अपनी संपत्ति खरीदते और बेचते समय उन्ने ध्यान ही नहीं रहा कि हर सौदे से उनकी महीने की आमदनी पर असर पड़ रहा है । मैंने सोचा , असल जिंदगी में ऐसे करोड़ों लोग होंगे जो पैसे के लिए सिर्फ इसलिए परेशान हो रहे हैं , क्योंकि उन्होंने ये दोनों विषय कभी नहीं पड़े । मैंने मन में सोचा , भगवान का शक है कि हमें मज़ा आ रहा है और हमारा लक्ष्य खेल में जीतना है । जब खेल खत्म हो गया तो रॉबर्ट ने हमें पदा मिनट तक कैशफ्लो पर चर्चा करने और इसकी समीक्षा करने के लिए कहा ।
मेरी टेबल पर बैठा व्यवसायी खुश नहीं था । उसे खेल पसंद नहीं आया था । " मुझे यह सब जानने की कोई जरूरत नहीं है , " उसने जोर से कहा । मेरे पास इन सबके लिए अकाउंटेंट , बैंकर और वकील हैं , जिन्हें यह सब मालूम है ।


Motivational books
 Article publish by lonome 


इंग्लिश रियल टाइम न्यूज़ पढ़ने के लिए नीचे क्लिक करें



No comments:

Post a Comment